Home Blog Page 298

शास्त्री मार्केट में बनाए जा रहे व्यावसायिक कांप्लेक्स का कलेक्टर ने किया अवलोकन

0
शास्त्री मार्केट में बनाए जा रहे व्यावसायिक कांप्लेक्स का कलेक्टर ने किया अवलोकन - Ujjwal Pradesh


रायपुर
कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने शास्त्री मार्केट में 17 करोड से अधिक की लागत से बनाए जा रहे व्यवसायिक कांप्लेक्स का अवलोकन किया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि निर्माण कार्य पूर्ण गुणवत्ता से होना चाहिए साथ ही समय सीमा का भी ध्यान रखा जाए। स्मार्ट सिटी के अधिकारियों ने बताया कि व्यवसायिक कांप्लेक्स कुल 4 मंजिल का होगा ।प्रत्येक मंजिल में 21 दुकानें होंगी तथा बेसमेंट में पार्किंग की व्यवस्था की जाएगी । संपूर्ण निर्माण कार्य जून 2023 तक पूरी होने की संभावना है। इस अवसर पर रायपुर नगर निगम के आयुक्त एवं स्मार्ट सिटी रायपुर के एमडी मयंक चतुवेर्दी एवं संबंधित विभाग के अधिकारी गण उपस्थित थे

BJP ने गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी से झाड़ा पल्ला, कीर्ति आजाद ने नड्डा की तस्वीर से किया दावा

0
BJP ने गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी से झाड़ा पल्ला, कीर्ति आजाद ने नड्डा की तस्वीर से किया दावा - Ujjwal Pradesh


नोएडा
नोएडा सेक्टर-93बी स्थित ग्रैंड ओमैक्स सोसाइटी में महिला से बदसलूकी कर चर्चा में आए गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। पूर्व क्रिकेटर और तृणमूल कांग्रेस के नेता कीर्ति आजाद ने रविवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के साथ श्रीकांत त्यागी की फोटो शेयर कर भाजपा पर चुटकी ली है। इस तस्वीर में श्रीकांत त्यागी भाजपा अध्यक्ष नड्डा को एक गुलदस्ता भेंट करता दिख रहा है। हालांकि, लाइव हिन्दुस्तान इस तस्वीर की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है। इस फोटो की कैप्शन के तौर पर उन्होंने वायरल हो रहे एक मीम की लाइन- ‘देख रहे हो ना विनोद, श्रीकांत त्यागी का भाजपा से कोई लेना-देना नहीं है’ भी लिखी है।

महिला के साथ बदसलूकी का वीडियो वायरल होने के बाद से श्रीकांत त्यागी फरार है। उसके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हो चुकी है और पुलिस की कई टीमें उसकी तलाश में जुटी हैं। बता दें कि, कथित तौर पर खुद को भाजपा नेता बताने वाले श्रीकांत त्यागी का अपनी सोसाइटी में एक महिला से बदसलूकी करने का वीडियो वायरल होने के बाद भाजपा ने उससे पल्ला झाड़ लिया था। सोसाइटी के लोगों के अनुसार, श्रीकांत सब पर अपनी पावर का रौब झाड़ता था और उसके द्वारा किए गए अतिक्रमण के खिलाफ बोलने पर अपशब्द कहता था। सोसाइटी के ज्यादातर लोग उसके आतंक से परेशान थे।

यह मामला मीडिया में आने के बाद भाजपा के स्थानीय सांसद डॉ. महेश शर्मा ने शनिवार को सोसाइटी के लोगों से मुलाकात कर आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया था। इसके साथ ही उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया था कि श्रीकांत त्यागी का भाजपा से कोई संबंध नहीं है और वह पार्टी का सदस्य भी नहीं है। भाजपा के स्थानीय सांसद डॉ. महेश शर्मा ने बताया कि गृहमंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले को संज्ञान में लिया है। उन्होंने कहा कि आरोपी पर कड़ी कार्रवाई होगी और 48 घंटे के अंदर उसे गिरफ्तार किया जाएगा। शर्मा ने कहा कि इस तरह की हरकत करने वाले समाज के दुश्मन हैं। उधर, पुलिस ने श्रीकांत त्यागी के खिलाफ फेज दो थाने में दर्ज एफआईआर में चार और धाराएं बढ़ा दी हैं। पहले छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज किया गया था, शनिवार को मारपीट, जान से मारने की धमकी और लोक शांति भंग करने की धाराएं भी लगाई गईं। इसमें दो साल की सजा हो सकती है।

सोसाइटी के लोग परेशान
कांग्रेस नेता और नोएडा विधानसभा की पूर्व प्रत्याशी पंखुड़ी पाठक ने आरोप लगाया था कि भाजपा नेता और कार्यकर्ताओं की मनमानी से कई सोसाइटी के लोग परेशान हैं। इससे पहले भी श्रीकांत त्यागी ने लोगों को बहुत परेशान किया है। ‘आप’ के यूथ विंग के अध्यक्ष पंकज अवाना और जिलाध्यक्ष भूपेंद्र जादौन ने कहा कि महिला से बदसलूकी व गाली-गलौज करने वाले आरोपी की संपत्ति पर बुलडोजर चलना चाहिए। 

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज नई दिल्ली में नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक में हुए शामिल

0
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज नई दिल्ली में नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक में हुए शामिल - Ujjwal Pradesh


रायपुर
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज नई दिल्ली में नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक में शामिल हुए. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज नई दिल्ली में नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक में शामिल हुए.

नीति आयोग की बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोयला सहित मुख्य खनिजों की रॉयल्टी दर में संशोधन का आग्रह किया कर्मचारियों के हित में नवीन पेंशन योजना में जमा राशि की वापसी की मांग की नीति आयोग की बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की माँग- शहरों के निकट स्थित ग्रामीण क्षेत्रों एवं 20 हजार से कम आबादी के शहरों में मनरेगा लागू की जाये।

नीति आयोग की बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल – जीएसटी क्षतिपूर्ति का मुद्दा उठाया। कहा जीएसटी कर प्रणाली से राज्यों को हुई राजस्व की हानि
जीएसटी क्षतिपूर्ति अनुदान जून 2022 के बाद भी आगामी 05 वर्षों के लिए जारी रखने का अनुरोध किया।

नक्सल उन्मूलन के लिए तैनात केन्द्रीय सुरक्षा बलों पर किये 12 हजार करोड़ के व्यय की प्रतिपूर्ति की मांग कहा राज्यों के संसाधनों पर बढ़ा दबाव, केंद्रीय कर में राज्यों का हिस्सा बढ़ाने की मांग ।

उद्योग जगत के पुरोधा ओ.पी. जिन्दल की जयंती धूमधाम से मनाई गई

0
उद्योग जगत के पुरोधा ओ.पी. जिन्दल की जयंती धूमधाम से मनाई गई - Ujjwal Pradesh


रायपुर
ओपी जिन्दल ग्रुप के संस्थापक व उद्योग जगत के पुरोधा बाऊजी ओपी जिन्दल जी की 92वीं जयंती जिन्दल स्टील एंड पावर (जेएसपी) के रायपुर स्थित मशीनरी डिवीजन समेत देशभर में मनाई गई। प्रख्यात सैंड आर्टिस्ट सुदर्शन पटनाइक ने भी रेत कला के माध्यम से बाऊजी को नमन किया है और ओपी जिन्दल को मैन आॅफ स्टील विद अ हार्ट आॅफ गोल्ड लिखकर विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की है।

यहां मशीनरी डिवीजन स्थित हेरीटेज पार्क में प्रात: 9 बजे से ही कर्मचारियों का आना शुरू हो गया। वहां स्थित ओपी जिन्दल की प्रतिमा के आगे पुष्पांजलि अर्पित कर सभी ने उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया। इस अवसर पर बिजनेस यूनिट हेड नीलेश टी. शाह ने कहा कि मशीनरी डिवीजन ने देश को आत्मनिर्भर बनाने में उल्लेखनीय योगदान दिया है। यहां वे मशीनें भी सफलतापूर्वक बनाई गईं, जो विदेशों से आयात की जाती थीं। आज देश की आधारभूत अर्थव्यवस्था के विकास में जुटी तमाम कंपनियों को मशीनरी डिवीजन से अत्याधुनिक उपकरणों की आपूर्ति की जा रही है तो इसके पीछे बाऊजी ओपी जिन्दल जी की प्रेरणा है, जिन्होंने इस संस्थान की स्थापना की थी।

इस अवसर पर कार्मिक प्रमुख सूर्योदय दुबे, सुनील गुप्ता समेत अनेक अधिकारियों और कर्मचारियों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

प्रतिबंधित ULFA-I सुधरा नहीं, एक साल की शांति के बाद स्वतंत्रता दिवस पर फिर बुलाया ‘बंद’

0
प्रतिबंधित ULFA-I सुधरा नहीं, एक साल की शांति के बाद स्वतंत्रता दिवस पर फिर बुलाया 'बंद' - Ujjwal Pradesh


गुवाहाटी
75वें स्वतंत्रता दिवस से पहले असम के प्रतिबंधित संगठन यूनाइटेड फ्रंट ऑफ असम-इंडिपेंडेंट (ULFA-I) ने एक बार फिर सिर उठाया है। संगठन ने लोगों से स्वतंत्रता दिवस समारोह का बहिष्कार करने की अपील की है। बता दें कि पिछले साल इस संगठन ने शांति बना रखी थी और ऐसी कोई अपील नहीं की थी। 1996 के बाद से पहली बार ऐसा हुआ था। सरकार ULFA-I से शांति वार्ता करने का प्रयास कर रही थी लेकिन उसके इस कदम से इसमें भी बाधा पैदा हो सकती है। शनिवार को ULFA-I और दूसरे प्रतिबंधित आतंकी संगठन के युंग आंग गुट ने बयान जारी करके कहा कि असम, नगालैंड, मणिपुर, त्रिपुरा और मेघालय के लोगों को इस ‘फर्जी आजादी की गतिविधियों’ में भाग नहीं लेना चाहिए।इस बयान में कहा गया कि 14 अगस्त की मध्य रात्रि से ही शटडाउन शुरू हो जाएगा और यह अगले दिन के शाम 6 बजे तक जारी रहेगा। आपातकाल विभाग, मीडिया और धार्मिक कार्यक्रमों के लिए छूट रहेगी।

इस संगठन ने कोरोना महामारी के बाद महंगाई और मंदी की बात करते हुए कहा कि स्वतंत्रता दिवस मनाना बेकार है। बयान में कहा गया, ‘यह राज्य के लिए बेकार और गैरजरूरी है। हम आजादी के 75 साल पूरे होने पर समारोह करने जा रहे हैं लेकिन लोगों का जीवन स्तर गिर गया है। इसलिए इस आयोजन के कोई मायने नहीं हैं।’ बता दें कि 42 साल के इतिहास में पिछली साल पहली बार ULFA ने स्वतंत्रता दिवस समारोह का बायकॉट नहीं किया था और न ही बंद का आह्वान किया था।  

ULFA से बात करना चाहता था केंद्र
1979 में ULFA के अस्तित्व में आने के बाद से ही यह स्वतंत्रता दिवस का बहिष्कार करता रहा है। यह गणतंत्र दिवस पर भी विरोध प्रदर्शन करता रहा है। मई 2021 से असम में भारतीय जनता पार्टी की सत्ता दूसरी बार आई है। सरकार यह प्रयास करती रही है कि ULFA केंद्र के साथ शांतिवार्ता करे। मुख्यमंत्री हिमांता बिस्वा सरमा ने इस बात के संकेत दिए थे कि जल्द ही बातचीत शुरू होगी।

आतंकी संगठन ने क्या रखी शर्त?
ULFA ने बातचीत से पहले ही शर्त रख दी थी कि वह असम की संप्रभुता को लेकर बात करना चाहता है। इसके बाद केंद्र ने कोविड-19 का हवाला देते हुए बातचीत टाल दी। पिछले साल मई में संगठन ने अपनी तरफ से सीजफायर का भी ऐलान किया था जो कि अब भी जारी है। 

देश के नए उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, जानिए उनसे जुड़ी 4 बड़ी बातें

0
देश के नए उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, जानिए उनसे जुड़ी 4 बड़ी बातें - Ujjwal Pradesh


नई दिल्ली
एनडीए के उम्मीदवार जगदीप धनखड़ ने उपराष्ट्रपति चुनाव में जबरदस्त जीत दर्ज की है। धनखड़ ने विपक्ष की उम्मीदवार मार्गरेटअल्वा को बड़े अंतर से मात दी है। जगदीप धनखड़ ने मार्गरेट अल्वा को 346 वोटों से मात दी है। जगदीप धनखड़ को जीत के बाद राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी, विपक्ष की उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा सहित तमाम शीर्ष नेताओं ने बधाई दी। धनखड़ को कुल 74.36 फीसदी वोट मिले, जोकि पिछले 6 उपराष्ट्रपति चुनाव में सर्वाधिक है।
 
वरिष्ठ वकील रहे
जगदीप धनखड़ के व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो उनका जन्म 1950 में जाट समुदाय में हुआ था। राजस्थान के एक छोटे से गांव खिताना में एक किसान परिवार में धनखड़ का जन्म हुआ था। जगदीप धनखड़ का विवाद सुदेश धनखड़ से 1979 में हुआ था, उनकी एक बेटी है जिसका नाम कामना है। जगदीप धनखड़ ने अपना करियर बतौर वकील शुरू किया था। वह राजस्थान हाई कोर्ट में और सुप्रीम कोर्ट में वकील रह चुके हैं। इसके बाद 1990 में उन्हें वरिष्ठ वकील नियुक्य किया गया, इसके एक साल बाद वह सक्रिय राजनीति में आए।
 
कई बड़े केस में की पैरवी
बतौर वकील उन्होंने कई केस पर बहस की। उन्होंने 2016 में सतलज नदी के पानी के विवाद पर हरियाणा सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में बहस की। वह राजस्थान हाई कोर्ट बार असोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष भी रह चुके हैं। वह आरएसएस के नेताओं के खिलाफ भी कोर्ट में पेश हो चुके हैं। आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार के खिलाफ भी वह कोर्ट में खड़े हो चुके हैं।
 
देश के पूर्व उपप्रधानमंत्री चौधरी देवील लाल के वह करीबी थे और उनके साथ काफी नजदीकी संबंध था। जब वीपी सिंह सरकार से चौधरी देवीलाल ने बाहर आने का फैसला लिया तो जगदीप धनखड़ ने भी उनका साथ दिया। इसके बाद चंद्रशेखर की सरकार में धनखड़ केंद्रीय मंत्री बने। इसके बाद वह कांग्रेस में शामिल हुए। जब पीवी नरसिम्हा राव की सरकार बनी तो उन्होंने कांग्रेस का दामन थाम लिया। लेकिन जिस तरह से राजस्थान में अशोक गहलोत का उदय हुआ उसके बाद जगदीप धनखड़ भाजपा के साथ हो लिए।
 
पश्चिम बंगाल के राज्यपाल रहे
जगदीप धनखड़ को जुलाई 2019 में पश्चिम बंगाल का राज्यपाल नियुक्त किया गया। अपने कार्यकाल में जगदीप धनखड़ और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बीच लगातार तनातनी का माहौल बना रहा। राजस्थान में ओबीसी के मुद्दों को उठाने के लिए जगदीप धनखड़ को याद किया जाता है। उन्होंने जाट समुदाय को ओबीसी की श्रेणी में लाने की वकालत की थी।

 

भारत की नजर से नहीं बचेगी ड्रैगन की कोई हरकत, चीन सीमा पर ड्रोन तैनात करने की तैयारी

0
भारत की नजर से नहीं बचेगी ड्रैगन की कोई हरकत, चीन सीमा पर ड्रोन तैनात करने की तैयारी - Ujjwal Pradesh


नई दिल्ली
रिपोर्ट्स की मानें तो एचएएल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) चलित ऐसे ड्रोन विकसित कर रहा है, जो कूटनीतिक अभियानों के लिए ऊंचाई वाले इलाकों में भेजे जा सकेंगे। ये ड्रोन कई खूबियों और हथियारों से लैस होंगे। साथ ही ये सीमाओं पर कई घंटों तक उड़ान भरने में सक्षम होंगे।

भारत और चीन के बीच पिछले दो साल से लद्दाख स्थित सीमा पर तनाव जारी है। इस बीच ड्रैगन कई मौकों पर अरुणाचल से लेकर उत्तराखंड तक भारतीय सेना की चौकसी को परखने की कोशिश करता रहा है। अब सरकारी एयरोस्पेस कंपनी हिंदु्स्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) चीन की इन हरकतों से निपटने का स्थायी समाधान लाने जा रही है।

रिपोर्ट्स की मानें तो एचएएल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) चलित ऐसे ड्रोन विकसित कर रहा है, जो कूटनीतिक अभियानों के लिए ऊंचाई वाले इलाकों में भेजे जा सकेंगे। ये ड्रोन कई खूबियों और हथियारों से लैस होंगे। साथ ही ये सीमाओं पर कई घंटों तक उड़ान भरने में सक्षम होंगे।

सशस्त्र बलों की जरूरतों के हिसाब से बनाए जा रहे ड्रोन
एचएएल से जुड़े कुछ अधिकारियों ने बताया कि जिन ड्रोन्स के निर्माण की ओर कदम बढ़ाए गए हैं, वे रोटरी विंग वाले होंगे और यह एक बार में 40 किलोग्राम तक वजन उठा सकेंगे। यानी ये ड्रोन मिसाइल से लेकर सेंसर्स तक से लैस होंगे। बताया गया है कि ये ड्रोन्स सशस्त्र सेनाबलों की जरूरतों के हिसाब से तैयार किए जा रहे हैं, ताकि चीन के साथ लगती पूरी सीमा की निगरानी की जा सके।

एचएएल ने इस ड्रोन की पहली उड़ान के लिए एक टारगेट भी सेट कर लिया है। बताया गया है कि सरकारी कंपनी अगले साल के मध्य यानी 2023 के बीच में ही ड्रोन्स की टेस्टिंग शुरू कर देगी। इस प्रोजेक्ट के पहले फेज में 60 ड्रोन्स बनाए जाने हैं।

अधिकारियों का कहना है कि इन लंबी क्षमता तक उड़ान भरने में सक्षम ड्रोन्स को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तकनीक पर विकसित किया जाएगा। सशस्त्र बल इन्हें न सिर्फ जरूरत का सामान लाने-ले जाने के लिए इस्तेमाल करेंगे, बल्कि हथियार के तौर पर भी प्रयोग कर सकेंगे। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि ड्रोन को इस तरह से बनाया जा रहा है कि यह सेना के भी कई काम कर सके। इसमें सेंसर्स के अलावा मिसाइलों और अन्य हथियार भी लगाए जा रहे हैं।

इस्राइल से चल रही हेरोन ड्रोन को लेकर बात
एचएएल इस्राइल की कंपनी से सहयोग के जरिए हेरोन टीपी ड्रोन्स बनाने पर भी विचार कर रहा है। अफसरों के मुताबिक, इस्राइल के साथ बनने वाले ड्रोन न सिर्फ सशस्त्र बलों के काम आएंगे, बल्कि इन्हें वैश्विक सप्लाई के लिए भी मैन्युफैक्चर किया जाएगा। गौरतलब है कि हेरोन ड्रोन 35 हजार फीट की ऊंचाई पर 45 घंटे तक उड़ान भरने में सक्षम है। इन्हें सैटेलाइट कम्युनिकेशन सिस्टम की मदद से लंबी दूरी तक उड़ाया जा सकता है। इसके अलावा एचएएल दो अन्य ड्रोन प्रोजेक्ट्स पर भी काम कर रहा है।

 

महाराष्ट्र: कैबिनेट विस्तार में फंसा पेंच, शिंदे ने IAS को दिए विधायकों से अधिक पावर; अजीत पवार भड़के

0
महाराष्ट्र: कैबिनेट विस्तार में फंसा पेंच, शिंदे ने IAS को दिए विधायकों से अधिक पावर; अजीत पवार भड़के - Ujjwal Pradesh


 मुंबई।
 
नौकरशाहों को आधी न्यायिक शक्तियां देने के लिए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। विपक्ष के नेता अजीत पवार, कांग्रेस विधायक दल के नेता बालासाहेब थोराट और कांग्रेस प्रवक्ता अतुल लोंधे ने सीएम की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि उनका फैसला अलोकतांत्रिक है।

अजीत पवार ने कहा, “हम इस स्थिति का सामना इसलिए कर रहे हैं क्योंकि एकनाथ शिंदे सीएम के रूप में शपथ लेने के एक महीने से अधिक समय तक अपने मंत्रिमंडल का विस्तार करने में विफल रहे हैं। मुझे लगता है कि नौकरशाहों के बजाय  सभी शक्तियां मुख्य सचिव को सौंपी जानी चाहिए। हम एक लोकतांत्रिक व्यवस्था में हैं। विधायकों के पास कोई शक्ति नहीं है और न ही कोई कैबिनेट सदस्य हैं। ऐसी परिस्थितियों में नौकरशाह निर्वाचित प्रतिनिधियों की तुलना में अधिक शक्तिशाली हो गए हैं।”

मुख्य सचिव मनुकुमार श्रीवास्तव के नेतृत्व में सामान्य प्रशासन विभाग ने शुक्रवार को नौकरशाहों को अर्ध-न्यायिक शक्तियां प्रदान करने के लिए एक संक्षिप्त आदेश जारी किया था। रिपोर्टों में कहा गया है कि नौकरशाहों को शक्तियां सौंपी गई हैं ताकि आम आदमी को नुकसान न हो। क्षेत्रीय स्तर के अधिकारियों द्वारा पारित आदेशों के खिलाफ नियमित अपीलों का निपटारा नौकरशाहों द्वारा नहीं किया जा सकता है।

कांग्रेस विधायक दल के नेता बालासाहेब थोराट ने कहा, “उन्हें तुरंत मंत्रिमंडल का विस्तार करना चाहिए ताकि नौकरशाहों को शक्तियां सौंपने की कोई आवश्यकता न हो। अगर शिंदे मंत्रालय का नाम बदलकर सचिवालय कर दें तो हमें आश्चर्य नहीं होगा।” कांग्रेस प्रवक्ता अतुल लोंधे ने कहा कि महाराष्ट्र जैसे प्रगतिशील राज्य को सचिवों द्वारा नहीं चलाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा यह राज्य का दुर्भाग्य है कि शिंदे के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के 36 दिन बाद भी वह मंत्रिमंडल का गठन नहीं कर पाए हैं।

 

गैस की बढ़ती कीमतों के बीच MGL का मुनाफा घटा, जून तिमाही में ये रहा हाल

0
गैस की बढ़ती कीमतों के बीच MGL का मुनाफा घटा, जून तिमाही में ये रहा हाल - Ujjwal Pradesh


 नई दिल्ली
 
मुंबई और अन्य शहरों में पाइप से रसोई गैस और सीएनजी की खुदरा बिक्री करने वाली महानगर गैस लिमिटेड (एमजीएल) का चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में शुद्ध मुनाफा 9 फीसदी घट गया है। गैस की कीमत बढ़ने से उसके मुनाफे पर असर पड़ा है। कंपनी ने शेयर बाजार को दी गई सूचना में कहा कि अप्रैल-जून तिमाही में उसे 185.20 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ जो पिछले वर्ष की समान तिमाही में 204.08 करोड़ रुपये था। तिमाही में एमजीएल का परिचालन से प्राप्त राजस्व दोगुने से भी अधिक होकर 1,613.19 करोड़ रुपये रहा है।

एमजीएल ने कहा कि गैस की कुल बिक्री करीब 44 फीसदी बढ़कर 31.375 करोड़ घनमीटर हो गई जिसमें सीएनजी की बिक्री 64 फीसदी बढ़ी है। उसकी कर, ब्याज, मूल्यह्रास और परिशोधन से पूर्व (एबिटा) आय छह फीसदी गिरकर 285.55 करोड़ रुपये रही है।

हाल ही में हुई बढ़ोतरी: आपको बता दें कि हाल ही में महानगर गैस लिमिटेड ने सीएनजी की कीमत में 6 रुपये प्रति किलोग्राम की बढ़ोतरी की है। इसके साथ ही पाइप्ड प्राकृतिक गैस (पीएनजी) की कीमत में 4 रुपये प्रति यूनिट का इजाफा किया है।

 

रायपुर रेलवे स्टेशन से 65 किलो गांजा के साथ पति-पत्नी समेत 3 गिरफ्तार

0
रायपुर रेलवे स्टेशन से 65 किलो गांजा के साथ पति-पत्नी समेत 3 गिरफ्तार - Ujjwal Pradesh


रायपुर
रायपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर पांच से बिहार जाने वाली ट्रेन का इंतजार कर रहे तीन गांजा तस्करों को जीआरपी पुलिस ने मुखबिर से सूचना पर गिरफ्तार कर लिया। जीआरपी पुलिस ने गांजा तस्करों के पास से साढ़े 3 लाख कीमत का करीब 65 किलो गांजा जब्त किया है। बताया जा रहा है कि आरोपी 15 साल पहले रायपुर स्टेशन पर फल वेंडर्स का काम करता था। पकड़े गए तीनों आरोपियों में से एक पति-पत्नी है।

joker ดาวน์โหลดufabet
Home
Install
E-Paper
Log-In