UNSC में स्थाई सदस्यता का बाइडन ने किया समर्थन, रूस ने फिर दिया भारत का खुलकर साथ

Must Read


वाशिंगटन
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थाई सदस्यता के लिए रूस ने एक बार फिर से भारत का खुलकर समर्थन किया है। संयुक्त राष्ट्र महासभा में रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने कहा है कि हम सुरक्षा परिषद को और अधिक लोकतांत्रिक बनाने की संभावनाओं को देखते हैं। उन्होंने कहा, विशेष रूप से भारत और ब्राजील को सुरक्षा परिषद में स्थाई सदस्यता मिलनी चाहिए।

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने भारत, जापान और जर्मनी को यूएनएससी का स्थाई सदस्य बनाए जाने का समर्थन किया था। हालांकि, उन्होंने कहा था कि अभी इस दिशा में बहुत काम किया जाना बाकी है।

स्थाई और गैर-स्थाई श्रेणियों में हो विस्तार
इससे पहले 31 अन्य देशों के साथ भारत ने एक संयुक्त बयान में कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थाई और गैर-स्थाई सदस्यों की श्रेणियों में और अधिक विस्तार होना चाहिए। भारत ने कहा, सुरक्षा परिषद के काम करने के तरीकों में अभी और अधिक सुधार की आवश्यकता है।

जयशंकर ने चीन-पाक को लताड़ा
संयुक्त राष्ट्र महासभा के 77वें सत्र में भारतीय समयानुसार शनिवार रात विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने संबोधित करते हुए आतंकवाद के साथ परोक्ष रूप से पड़ोसी देशों चीन और पाकिस्तान पर भी निशाना साधा। यूएनजीए में विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने कहा कि वर्ष 2022 भारत की यात्रा में एक मील का पत्थर है। उन्होंने अपना संबोधन शुरू करते हुए कहा कि मैं दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश से 130 करोड़ लोगों की शुभकामनाएं लेकर आया हूं। भारत अपनी आजादी के 75 साल मना रहा है, जिसे हम आजादी का अमृत महोत्सव कह रहे हैं। इस दौर की कहानी लाखों भारतीयों के परिश्रम, दृढ़ संकल्प और उद्यम की है।

नया भारत विकास के लिए प्रतिबद्ध
विदेश मंत्री ने कहा, यह नया भारत पीएम मोदी के नेतृत्व में अपने विकास को लेकर प्रतिबद्ध है। पीएम मोदी ने आजादी के 75 साल पूरे होने पर पांच प्रण लिए थे। हम भारत को विकसित बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमने दुनिया को वैक्सीन दी, लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला। आज हमारा फोकस ग्रीन ग्रोथ, एक्सेसबल हेल्थ पर है। दुनिया कोरोना के बाद आर्थिक संकट से गुजर रही है। फ्यूल, फर्टिलाइजर और फूड को लेकर संकट बना हुआ है।

जयशंकर ने यूएन महासचिव से की मुलाकात
संयुक्त राष्ट्र महासभा के 77वें सत्र ये इतर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस से मुलाकात की। इस दौरान दोनों ने यूक्रेन संघर्ष सहित वैश्विक चुनौतियों पर चर्चा की। जयशंकर ने ट्विटर पर कहा, संयुक्त राष्ट्र महासचिव के साथ वैश्विक चुनौतियों पर व्यापक चर्चा हुई। एजेंडा में यूक्रेन संघर्ष, संयुक्त राष्ट्र सुधार, G20, जलवायु कार्रवाई, खाद्य सुरक्षा और विकास के लिए डेटा शामिल थे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

पंप स्टोरेज तकनीक से बिजली संयंत्र लगाने डीपीआर बनाएगा वैपकास, प्रदेश में पांच स्थानों पर हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट के विस्तृत परियोजना रिपोर्ट बनाने हुआ...

रायपुर, 29 नवंबर 2022। प्रदेश में 7700 मेगावाट के पांच पंप स्टोरेज हाइडल इलेक्ट्रिक प्लांट लगाने की विस्तृत परियोजना...

More Articles

joker ดาวน์โหลดufabet
Home
Install
E-Paper
Log-In