अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुई है कोरोना वायरस महामारी: डब्ल्यूएचओ महानिदेशक

Must Read


नई दिल्ली

कोरोना वायरस महामारी की चपेट में अब तक 616,154,218 लोग आ चुके हैं। चीन से निकले इस खतरनाक वायरस से 6,525,964 मारे जा चुके हैं। कुल संक्रमित लोगों में से 595,318,378 मरीज ठीक हुए हैं। पिछले कुछ महीनों से कोरोना के नए मामलों में कमी आई है और संक्रमण की गंभीरता भी कम हुई है।

कोरोना वायरस कब तक खत्म होगा? यह एक ऐसा सवाल यह जिसका जवाब पूरी दुनिया जानना चाहती है। राहत की बात यह है कि इस सवाल का जवाब भी धीरे-धीरे सामने आ रहा है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने माना है कि कोरोना महामारी का अंत होने वाला है।

डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस एडनॉम घेबियस ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुई है लेकिन इसका अंत होता दिख रहा है। इस बयान के बावजूद, डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने देशों से सतर्क रहने का आग्रह किया है।

पूरी तरह खत्म नहीं हुआ कोरोना
यूरोपीय आयोग के एक प्रवक्ता ने कहा, ओमीक्रोन बीए.4 और बीए.5 के बढ़ते प्रकोप ने दिखाया कि महामारी अभी खत्म नहीं हुई है क्योंकि वायरस यूरोप और उसके बाहर फैल रहा है। उन्होंने बताया कि अधिकांश दुनिया महामारी प्रतिक्रिया के आपातकालीन चरण से आगे बढ़ रही है। सरकारें अब यह देख रही हैं कि अपनी नियमित स्वास्थ्य देखभाल और निगरानी के हिस्से के रूप में कोरोना को किस तरह मैनेज किया जाए।

संभलकर आगे बढ़ने का समय
डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि कोरोना को रोकने के लिए किये गए प्रयास फिनिशिंग लाइन के पास जा चुके हैं। यह वो समय है जब पूरी दुनिया को सतर्क रहना होगा। अब कड़ी मेहनत करने और यह सुनिश्चित करने का समय है कि हम लाइन पार करें और अपनी कड़ी मेहनत के सभी पुरस्कारों को प्राप्त करें।

कोरोना से होने वाली मौतों में 22% की गिरावट
डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले एक सप्ताह में मौतों में 22% की गिरावट आई है, जो दुनिया भर में केवल 11,000 से अधिक दर्ज की गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि 3.1 मिलियन नए मामले सामने आए, जिसमें 28% की गिरावट आई, जो दुनिया के हर हिस्से में बीमारी में एक हफ्ते तक गिरावट जारी रही।

कोरोना वेरिएंट्स की स्थिति
कोरोना वायरस जब से शुरू हुआ है, तब से इसने कई बार अपना रूप बदला है। डब्ल्यूएचओ ने आज तक कोरोना वायरस के चार वेरिएंट्स को ‘वेरिएंट ऑफ कंसर्न’ माना है क्योंकि इन वेरिएंट्स ने पूरी दुनिया में मामले बढ़ा दिए थे। ओमीक्रोन वेरिएंट अभी दुनिया में प्रमुख संस्करण है। इसका सब-वेरिएंट BA.2.75 मुख्य रूप से भारत में देखा जा रहा है।

बहुत से लोग नहीं सहमत
कोरोना पर डॉ टेड्रोस अदनोम घेब्रेयसस का बयान भले ही कई लोगों के लिए राहत भरा रहा हो, लेकिन कुछ लोगों ने परीक्षण और निगरानी की कमी की ओर इशारा किया है। कई लोगों ने सामने आकर इस बयान के लिए डब्ल्यूएचओ प्रमुख की आलोचना की है। कई लोगों ने कहा है कि ऑस्ट्रेलिया में परीक्षण हर समय निम्न स्तर पर है, 300+ ऑस्ट्रेलियाई हर हफ्ते मर जाते हैं। यहां ट्रांसमिशन को कम करने के लिए लगभग हर सुरक्षा उपाय को हटा दिया है। कुछ लोग कह रहे हैं कि कोरोना को लेकर हमारा अहंकार हमारा पतन करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

अवैध प्लाटिंग से जुड़े 39 खसरे जिला प्रशासन ने कराए ब्लाक

रायपुर रायपुर जिले में अवैध प्लाटिंग पर जिला प्रशासन की लगातार कार्रवाई जारी है। आज फिर जिला प्रशासन ने...

More Articles

Home
Install
E-Paper
Log-In