अग्निपथ योजना को लेकर पंजाब में मचा बवाल तो भगवंत मान ने दी सफाई, अधिकारियों को दिए निर्देश

Must Read


चंडीगढ़
पंजाब में अग्निपथ योजना के तहत भर्ती रैली को लेकर विवाद के बाद मुख्यमंत्री भगवंत मान ने सफाई पेश की है। उन्होंने डिप्टी कमिश्नर को आदेश दिया है कि पंजाब में भर्ती रैलियों को लेकर अधिकारियों का सहयोग करें। दरअसल सेना ने पंजाब सरकार से कहा था कि अग्निपथ योजना के तहत भर्ती के लिए स्थानीय प्रशासन का समर्थन नहीं मिल रहा है। ऐसे में या तो भर्तियों को स्थगित किया जाएगा या अन्य पड़ोसी राज्यों में शिफ्ट कर दिया जाएगा। इसके बाद भगवंत मान ने ट्वीट करके सफाई दी है।

मान ने कहा कि स्थानीय प्रशासन सेना के अधिकारियों का सहयोग करे। उन्होंने कहा कि कोशिश की जाएगी कि पंजाब से ज्यादा से ज्यादा युवा सेना में भर्ती हों। भाजपा ने भी पंजाब सरकार पर हमला किया था और कहा था कि आम आदमी पार्टी की सरकार विकास में रोड़ा अड़ा रही है। पंजाब की सरकार जान-बूझकर केंद्र सरकार की योजना को विफल करना चाहती है लेकिन इसे पंजाब के युवाओं को नुकसान होगा और उनमें निराशा फैलेगी।

पंजाब के वित्त मंत्री की राय इस मामले में अलग दिखी। उन्होंने कहा कि अग्निपथ योजना का विरोध जारी रहेगा। बता दें कि जालंधर जोनल भर्ती अधिकारी मेजर नजरल शरद बिक्रम सिंह ने 8 सितंबर को पंजाब के मुख्य सचिव को पत्र लिखा था और कहा था कि भर्ती में स्थानीय प्रशासन का सहयोग नहीं मिल रहा है और सरकारी आदेश या फिर धन की कमी का हवाला दिया जा रहा है।

विधानसभा में पारित हो चुका है अग्निपथ के खिलाफ प्रस्ताव
बता दें कि पंजाब की  विधानसभा में अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग को लेकर प्रस्ताव भी  पारित किया गया था। सीएम भगवंत मान ने यह प्रस्ताव पेश किया था और कहा था कि केवल चार साल के लिए युवाओं को सेना में भर्ती करने से उनमें असंतोष पैदा हो सकता है। युवा जीवनभर देश की सेवा करना चाहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

PAK के साथ बातचीत करने से अमित शाह ने किया इनकार, बोले- नहीं बर्दाश्त करेंगे आतंकवाद

बारामूलाकेंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी सरकार...

More Articles

Home
Install
E-Paper
Log-In