झारखंड में खिलाड़ियों को CM सोरेन ने दिया खेल नीति 2022 का तोफहा 

Must Read


राँची 

 सीएम हेमंत सोरेन ने प्रोजेक्ट भवन में खेल नीति 2022 का लोकार्पण किया. इस मौके पर राज्य के 13 खिलाड़ियों को सहायता राशि देकर सम्मानित भी किया गया. सीएम ने कहा कि जिस प्रकार खेल की दिशा में राज्य सरकार ने अपना कदम बढ़ाया है, निश्चित रूप से खेल के क्षेत्र में झारखंड देश का अग्रणी राज्य बनेगा.

पांच वर्षों के लिए बनी नई खेल नीति

सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि वर्तमान सरकार के गठन के बाद से ही राज्य में खेल गतिविधियां तेजी से बढ़ी है. आने वाले पांच वर्षों के लिए हमने नई खेल नीति बनायी है जिसका लोकार्पण हुआ है. सरकार द्वारा बनायी गई यह खेल नीति राज्य के खिलाड़ियों, कोच तथा प्रशिक्षकों के लिए समर्पित है. कहा कि झारखंड के नौजवानों में खेल के प्रति रुचि, जागरूकता और झुकाव को मैंने काफी करीब से समझने का काम किया है. यहां के खिलाड़ियों को प्लेटफार्म उपलब्ध कराना हमारी प्राथमिकता है. मुझे पूरा विश्वास है कि राज्य सरकार द्वारा बनायी गई नई स्पोर्ट्स पॉलिसी हमारे खिलाड़ियों को बिना रुकावट खेल की दिशा में आगे बढ़ाने के लिए मदद करेगी.

सीमित संसाधनों में तैयारी कर नंबर-1 बनते हैं हमारे खिलाड़ी

उन्होंने कहा कि पिछले दिनों देश के दूसरे राज्यों के खिलाड़ियों ने झारखंड में आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं में अपनी उपस्थिति दर्ज करायी है तथा यहां के प्रशिक्षकों द्वारा गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण भी लेने का काम किया है. झारखंड के बच्चों ने कई खेलों में राज्य ही नहीं, बल्कि देश का प्रतिनिधित्व किया है तथा पदक जीतकर विश्व में राज्य एवं देश का नाम रोशन किया है. कहा कि झारखंड के खिलाड़ी जो पूरी दुनिया में खेल के क्षेत्र में अपना जौहर दिखा रहे हैं, हमारे वे बच्चे बहुत ही सीमित संसाधनों में अपनी तैयारी करते हैं. हमारे लिए यह गौरव की बात है कि हमारे बच्चे सीमित संसाधनों से निकलकर देश में अपना स्थान पहले पायदान पर रखते हैं और देश में नंबर वन खिलाड़ी के रूप में उभरते हैं. यहां के खिलाड़ियों की इसी जज्बा को और आगे ले जाने के लिए हमारी सरकार ने राज्य में नई खेल नीति लाने का काम किया है.

खिलाड़ियों को सहायता राशि न्यूनतम 50 हजार

मुख्यमंत्री ने कहा कि जरूरत के हिसाब से पॉलिसी में समय-समय पर बदलाव की जाएगी. पर्यटन, कला-संस्कृति, खेल-कूद एवं युवा कार्य विभाग को इस संबंध में निर्देश भी दिया गया है. कहा कि आने वाले समय में खेल पॉलिसी में बदलाव लाकर खिलाड़ियों को सहायता राशि के रूप में न्यूनतम 50 हजार रुपये दिए जाने का प्रावधान किया जाएगा. उन्होंने कहा कि एक उम्र सीमा के बाद यहां के खिलाड़ियों का भविष्य कैसे सुरक्षित हो सके इसको लेकर सरकार गंभीरता से विचार कर रही है. साथ ही राज्य में बन रहे स्टेडियमों को और गति देने पर जोर दिया. राज्य सरकार स्कूलों में भी खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने पर विचार कर रही है, इससे संबंधित कार्य योजना बनायी जाएगी.

हर वर्ग को कुछ न कुछ सहायता प्रदान कर रही हमारी सरकार

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि 20 वर्षों में झारखंड में विकास की गति थम सी गई थी. वर्तमान सरकार ने राज्य की आंतरिक संसाधनों को बढ़ाने पर बल दिया है. एक-एक राज्य वासियों को सरकार का अंग बनाकर उनकी मदद से विकास की लंबी लकीर खींचने का प्रयास किया जा रहा है. झारखंड में पर्याप्त संसाधनों के अनुरूप ही हमारी सरकार हर वर्ग को कुछ न कुछ, किसी न किसी तरीके से सहायता प्रदान करने का काम कर रही है. कहा कि वर्तमान सरकार बुजुर्ग, नौजवान, महिला, बच्चे सभी की चिंता कर रही है. सभी का सर्वांगीण विकास राज्य सरकार की जिम्मेदारी भी है.

खेलेगा झारखंड तो बढ़ेगा झारखंड

इस अवसर पर पर्यटन, कला-संस्कृति, खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग के मंत्री हफिजुल हसन ने कहा कि तमाम विपरीत परिस्थितियों के बाद भी मुख्यमंत्री के मार्गदर्शन एवं प्रेरणा से झारखंड खेल नीति 2022 का लोकार्पण हुआ. यह खेल नीति मुख्य रूप से यहां के खिलाड़ियों के बेहतर भविष्य, झारखंड में खेल गतिविधियों का प्रसार, युवाओं को रोजगार, आमजनों में आत्मविश्वास एवं झारखंड को राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय पटल पर स्थापित करने के उद्देश्य से बनाई गई है. खेल नीति में खिलाड़ियों को नौकरी एवं शिक्षण संस्थाओं में आरक्षण की व्यवस्था भी की गई है. उन्होंने कहा कि खेल मैदान में खिलाड़ियों की कोई जाति, कोई मजहब, कोई धर्म नहीं होता है. खिलाड़ी केवल खेल भावना एवं राष्ट्रीय भावना से खेलता है और यह दिलों से दिल को जोड़ने का स्थान होता है. उन्होंने कहा कि यह खेल नीति प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को चयनित खेल विद्या में राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाएगा. उन्होंने कहा कि खेलेगा झारखंड तो बढ़ेगा झारखंड.

ये खिलाड़ी हुए सम्मानित

इस मौके पर राज्य के 13 खिलाड़ियों को सहायता राशि देकर सम्मानित किया गया. सहायता राशि प्राप्त करने वाले हॉकी खिलाड़ियों में पंकज कुमार रजक, संगीता कुमारी, सलीमा टेटे, निक्की प्रधान, आशा किरण बारला एवं ब्यूटी डुंगडुंग तथा एथलेटिक्स खिलाड़ी सुप्रिती कच्छप, फ्लोरेंस बारला, विशाखा सिंह, रिया कुमारी, विधि रावल, आकाश यादव एवं हेमंत कुमार नाम शामिल थे. इसमें हॉकी खिलाड़ी पंकज कुमार रजक, संगीता कुमारी, सलीमा टेटे, निक्की प्रधान, आशा किरण बारला, ब्यूटी डुंगडुंग एवं एथलेटिक्स खिलाड़ी सुप्रीति कच्छप अपरिहार्य कारण से उपस्थित नहीं हो सके. इन सभी की अनुपस्थिति में इनके परिजनों को सहायता राशि देकर सम्मानित किया गया.

इनकी रही उपस्थिति

इस अवसर पर राज्य के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे, पर्यटन कला-संस्कृति खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग के सचिव डॉ अमिताभ कौशल, निदेशक खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग डॉ संजय सिंह, विभिन्न खेल संघ के पदाधिकारी एवं राज्य के कई क्षेत्रों से पहुंचे खिलाड़ी उपस्थित थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

संकेत साहित्य समिति का स्थापना दिवस मनाया गया

रायपुरसंकेत साहित्य समिति का इकतालीसवाँ स्थापना दिवस बैस भवनमें रविशंकर विश्व विद्यालय के कुलपति प्रो. केशरी लाल वर्मा...

More Articles

Home
Install
E-Paper
Log-In