संगरूर: तहसीलदार व क्लर्क गिरफ्तार, रजिस्ट्री के लिए मांग रहे थे 10 हजार की रिश्वत

Must Read


दिड़बा (संगरूर)
पंजाब सरकार द्वारा रिश्वतखोरी के खिलाफ शुरु की मुहिम के तहत दिड़बा तहसील कांप्लेक्स में रिश्वत लेने के आरोप में रजिस्ट्री क्लर्क व तहसीलदार को गिरफ्तार किया गया है। शिकायतकर्ता पूर्व सरपंच सुखदेव सिंह गांव सूलर ने बताया कि उसने एक बिस्वा जमीन की रजिस्ट्री सुखजीत कौर पत्नी कमलजीत सिंह के नाम करवानी थी। क्लर्क जसपाल सिंह ने पुड्डा की एनओसी की मांग की।

इस दौरान एनओसी के बगैर रजिस्ट्री करने के लिए दस हजार रूपये की मांग की। इस संबंधी विजिलेंस ब्यूरो को शिकायत दी गई। शिकायत पर डीएसपी विजिलेंस संगरूर परमिंदर सिंह की अगुआई वाली टीम ने तहसीलदार जिनसु बांसल व क्लर्क जसपाल सिंह को गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल मामले में आगे की जांच जारी है।

सरकार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ एंटी-करप्शन हेल्पलाइन किया है जारी
गाैरतलब है कि पंजाब में करप्शन काे लेकर सीएम भगवंत मान की सरकार ने सख्ती दिखाई है। इसके लिए मुख्यमंत्री ने 23 मार्च यानी शहीदी दिवस के मौके पर एक एंटी-करप्शन हेल्पलाइन (Anti-corruption helpline) जारी किया था। इसके जरिये प्रदेश के लोग वाट्सएप पर भ्रष्टाचार की शिकायत दर्ज करा सकेंगे। पंजाब में अगर कोई आपसे घूस मांगता है तो मना न करें, वीडियो/आडियो रिकार्डिंग बनाकर उस नंबर पर भेज दें’। इस पर तुरंत ही कार्रवाई हाेती है।

करप्शन के खिलाफ मुहिम काे मिल रहा समर्थन
करप्शन के खिलाफ मुहिम का लाेगाें ने भी समर्थन किया है। लाेगाें का कहना है कि उन्हें आप सरकार से काफी उम्मीदें हैं। आधिकारिक आंकड़ों से पता चलता है कि 11 जुलाई तक लोगों द्वारा कुल 2,94,670 शिकायतें दर्ज कराईं गई हैं। इन पर कार्रवाई की जा रही है। इस समय पूर्व मंत्री भारत भूषण आशु भ्रष्टाचार के आराेप में पटियाला की सेंट्रल जेल में बंद हैं। इसके अलावा पूर्व मंत्री साधु सिंह धर्मसाेत काे भी वन विभाग में घाेटाले पर गिरफ्तार कर जेल भेजा था। हालांकि, अब उन्हें हाई काेर्ट ने जमानत दे दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

रेल सुविधा को मोदी सरकार ने मजाक बना दिया : कांग्रेस

रायपुर मोदी सरकार के द्वारा कोयला आपूर्ति का बहाना बना कर छत्तीसगढ़ की 46 और ट्रेनों को बंद के...

More Articles

Home
Install
E-Paper
Log-In