एनीकट पार करते समय पैर फिसला, शिक्षक समेत तीन डूबे, तलाश जारी

Must Read


रायपुर
शिक्षक दिवस के दिन एक बूरी सामने आई जब मुर्रा गांव के पास खारुन नदी पर बने एनीकट को शिक्षक अपने परिवार के दो सदस्यों के साथ पार रहे थे कि उनका पैर फिसल गया और तीनों एनीकट में गिए और गहरे पानी में बहते चले गए। बताया जाता है कि जिस समय यह हादसा हुआ उस समय एनीकट के ऊपर पानी बह रहा था। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची गोताखोरी की टीम उनकी तलाश में जुटी हुई है, फिर तीनों का कोई पता नहीं चल सका है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार की दोपहर को धरसींवा इलाके के रहने वाले शिक्षक लखनलाल बंजारे (58) अपने परिवार के हरजीत भारती (15) और शेखर बंजारे (28) के साथ मुर्रा गांव में खारुन नदी पर बने एनीकट को पार कर रहे थे। बताया जाता है कि जिस समय वे एनीकट को पार कर रहे थे उस समय एनीकट के ऊपर से पानी बह रहा था और इसी उसी दौरान तीनों का पैर फिसल गया और वे एनीकट में गिर और गहरे पानी के साथ डूबकर बहने लगे। घटना के समय आसपास कुछ लोग मौजूद थे और उन्होंंने तत्काल इसकी सूचना 112 के माध्यम से पुलिस को दी। सूचना मिलते ही धरसींवा थाने की पुलिस गोताखोरों के साथ तत्काल घटनास्थल पर पहुंची और एनीकट में कूदकर उनकी तलाशी शुरू की, लेकिन अभी तक उनका कोई पता नहीं चल सका है।

घटना की जानकारी जैसे ही जिला पंचायत सदस्य राकेश यादव को हुई वे भी एनीकट पर पहुंचे और जिला प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते कहा कि एनीकट में 14 गेट हैं, लगातार बोलने पर भी किसी प्रकार का मेंटेनेंस नहीं किया गया। अगर 4 गेट भी खुले होते तो यह हदासा नहीं होता क्योंकि सभी गेट जाम हैं। लगातार हादसे के बाद भी प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है।

यादव ने बताया कि एनीकट से लोग आना-जान करते हैं और यह एनीकट रायपुर को बेमेतरा जिले को जोड़ता भी है और रोजाना कई बसें इस मार्ग से होकर गुजरती है। एनीकट के ऊपर से पानी बहने के कारण फिलहाल बसें इस रुट से नहीं चल रही है, वरना रोजाना इस मार्ग से होकर गुजरती है। ग्रामीण मुर्रा से ढाबा गांव आने – जाने के लिए भी इस पुल का उपयोग होता है। हैरानी की बात ये है कि एनीकट में ऊपर से पानी बह रहा है। इसके बावजूद लोग उसे पार कर रहे हैं। फिर भी प्रशासन ने ना तो यहां पर किसी प्रकार का कोई नोटिस लगाया है। ना ही यहां पर किसी को तैनात किया गया है। जिला प्रशासन से वे मांग करते है कि एनीकट के कुछ गेट खोल दिए जाएं और नोटिस बोर्ड लगाने के साथ ही जवान की यहां तैनाती किया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

ओबीसी वर्ग के सभी शासकीय अधिकारी-कर्मचारी अपना पंजीयन जरूर करवाए: कलेक्टर

रायपुर छत्तीसगढ़ क्वांटिफेयबल डाटा आयोग ने अन्य पिछड़ा वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों और शासकीय अधिकारियों-कर्मचारियों के...

More Articles

Home
Install
E-Paper
Log-In