सेंट्रल विस्टा एवेन्यू पर जल्द होगी आम लोगों की चहलकदमी, PM मोदी करेंगे उद्घाटन

Must Read


नई दिल्ली।
सेंट्रल विस्टा परियोजना का एक प्रमुख हिस्सा सेंट्रल विस्टा एवेन्यू (विजय चौक से इंडिया गेट तक के राजपथ के दोनों ओर का क्षेत्र) अब पूरी तरह तैयार है। पुनर्विकसित सेंट्रल विस्टा एवेन्यू में राज्यवार पकवान के स्टॉल, चारों ओर हरियाली वाला लाल ग्रेनाइट युक्त पैदल पथ, बिक्री क्षेत्र (वेंडिंग जोन), पार्किंग स्थल और चौबीसों घंटे सुरक्षा जैसी विशेषता यहां दिखेंगी। हालांकि, लोगों को एक चीज की कमी खलेगी कि इंडिया गेट से मान सिंह रोड तक के उद्यान क्षेत्र में भोजन करने की अनुमति नहीं होगी।

केंद्रीय आवासन और शहरी मामलों के मंत्रालय के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आठ सितंबर की शाम को अपनी सरकार की महत्वाकांक्षी सेंट्रल विस्टा एवेन्यू पुनर्विकास परियोजना के तहत विजय चौक से इंडिया गेट तक पूरे खंड का उद्घाटन करेंगे। यह खंड 20 महीने बाद जनता के लिए खुलेगा। उद्घाटन के दिन आगंतुकों को इंडिया गेट से मान सिंह रोड तक जाने की अनुमति नहीं होगी, लेकिन वे शेष भाग का उपयोग कर सकते हैं। पूरे खंड को नौ सितंबर से आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा।

सीपीडब्ल्यूडी ने पांच बिक्री क्षेत्र स्थापित किए हैं, जहां प्रत्येक क्षेत्र में 40 विक्रेताओं को अनुमति दी जाएगी। योजना के अनुसार उन्हें उद्यान क्षेत्र में आगंतुकों को अपना सामान बेचने की अनुमति नहीं होगी। इंडिया गेट के पास दो ब्लॉक होंगे और प्रत्येक ब्लॉक में आठ दुकानें होंगी, कुछ राज्यों ने अपने पकवान स्टॉल लगाने में रुचि दिखाई है। अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार आइसक्रीम की गाड़ियों को केवल बिक्री क्षेत्र में ही अनुमति दी जाएगी। चोरी रोकने और नई स्थापित सुविधाओं को नुकसान न पहुंचने देने के लिए पुलिसकर्मियों और सुरक्षा गार्ड की भारी संख्या में तैनाती सुनिश्चित की जाएगी।
 
पुनर्विकास के तहत कुल नहर क्षेत्र की 19 एकड़ भूमि का जीर्णोद्धार किया गया है। पूरे खंड पर 16 पुल हैं। दो नहरों में नौका विहार की अनुमति होगी (एक कृषि भवन के पास और दूसरा वाणिज्य भवन के पास)। पूरे क्षेत्र में लाल ग्रेनाइट से बनी 422 बेंच हैं। 900 से अधिक प्रकाश स्तंभ हैं। आठ सविधा खंड व चार पैदल यात्री अंडरपास बनाए गए हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

पंप स्टोरेज तकनीक से बिजली संयंत्र लगाने डीपीआर बनाएगा वैपकास, प्रदेश में पांच स्थानों पर हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट के विस्तृत परियोजना रिपोर्ट बनाने हुआ...

रायपुर, 29 नवंबर 2022। प्रदेश में 7700 मेगावाट के पांच पंप स्टोरेज हाइडल इलेक्ट्रिक प्लांट लगाने की विस्तृत परियोजना...

More Articles

joker ดาวน์โหลดufabet
Home
Install
E-Paper
Log-In