सभी के प्रयासों से भारत को दुनिया में सबसे आगे ले जाया जा सकता : मांडविया

Must Read


नयी दिल्ली
केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा है कि सभी के सामूहिक प्रयासों से भारत को दुनिया में सबसे आगे ले जाया जा सकता है और इस सदी में वैश्विक स्वास्थ्य सेवा का एक आदर्श स्थल बनाया जा सकता है।

मांडविया ने पद्म पुरस्कार प्राप्त चिकित्सकों के एक समारोह को संबोधित करते हुए कहा है कि देश में श्रम शक्ति और प्रतिभा की कभी कमी नहीं रही। उन्होंने कहा कि पुरस्कार विजेता को मिलता है और सम्मान उनको मिलता है जो देश के लिए जीते हैं। इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ. भारती प्रवीण पवार भी उपस्थित रहीं। समाराेह में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण और राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. आर एस शर्मा भी शामिल हुए।

अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों, डॉक्टरों और स्वास्थ्य क्षेत्र के पेशेवरों की सराहना करते हुए मांडविया ने कहा कि कोविड-19 के मुश्किल दौर में स्वास्थ्य पेशेवरों की भूमिका खासी अहम रही है। इस चुनौतीपूर्ण दौर में डॉक्टरों और स्वास्थ्य पेशेवरों की कड़ी मेहनत और प्रतिबद्धता मानव समुदाय के इतिहास में ऐतिहासिक है। वे असली नायक हैं, जिन्होंने कोविड-19 के दौर में मरीजों की सेवा और रक्षा के लिए अपने स्वास्थ्य और जिंदगियों को जोखिम में डाल दिया। उन्होंने कहा, “ राष्ट्र उनका हमेशा ऋणी रहेगा। सभी स्वास्थ्य पेशेवरों का अंशदान अनमोल है।”

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, “ हम सभी के सामूहिक प्रयासों के साथ, हम मिलकर भारत को दुनिया में सबसे आगे ले जा सकते हैं और इस सदी में वैश्विक स्वास्थ्य का एक प्रतीक बना सकते हैं।”

डॉ. पवार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सशक्त मार्गदर्शन में, पद्म पुरस्कार विजेताओं के चयन की प्रक्रिया खासी बदल गई है और अब आम लोगों को सम्मान मिल रहा है। अब नामांकन प्रक्रिया में नामांकित व्यक्ति के नाम पर नहीं, बल्कि उसके काम पर जोर दिया जा रहा है। उन्होंने सभी से आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करने और भारत को स्वास्थ्य सेवा में अग्रणी बनाने में योगदान करने के लिए अपनी क्षमता और सामर्थ्य बढ़ाने रहने का अनुरोध किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

संकेत साहित्य समिति का स्थापना दिवस मनाया गया

रायपुरसंकेत साहित्य समिति का इकतालीसवाँ स्थापना दिवस बैस भवनमें रविशंकर विश्व विद्यालय के कुलपति प्रो. केशरी लाल वर्मा...

More Articles

Home
Install
E-Paper
Log-In