घटकर 6.71% पर आई रिटेल महंगाई, खाने-पीने की चीजें हुईं सस्ती

Must Read


नई दिल्ली
महंगाई के मोर्चे पर आम आदमी को जून के मुकाबले जुलाई में थोड़ी बहुत राहत मिली है। जुलाई में भारत की रिटेल महंगाई घटकर 6.71% पर आ गईं। जबकि पिछले साल जुलाई 2021 में महंगाई दर 5.59 प्रतिशत थी। इससे पहले इस साल जून महीने में रिटेल महंगाई 7.01 पर्सेंट पर रही थी। हालांकि, यह लगातार सातवां महीना है जब महंगाई दर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की लिमिट 4-6% से काफी ऊपर है। आपको बता दें कि इस साल जनवरी में रिटेल महंगाई दर 6.01%, फरवरी में 6.07%, मार्च में 6.95%, अप्रैल में 7.79% और मई में 7.04% और जून में 7.01% दर्ज की गई थी। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) के आंकड़ों के अनुसार, जुलाई में खाने का सामान सस्ता होने के चलते महंगाई से थोड़ी राहत मिली है।

फूड इन्फ्लेशन घट कर 6.75% पर आया
आंकड़ों के अनुसार, जुलाई 2022 में खाद्य मुद्रास्फीति जून महीने के 7.75% के मुकाबले घटकर 6.75% हो गई है। बता दें कि चालू वित्त वर्ष के पहले तीन महीनों में रिटेल महंगाई 7% से ऊपर रही है। वहीं, दूसरी तरफ देश के इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (IIP) में जून 2022 के दौरान 12.3 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। NSO की तरफ से शुक्रवार को जारी इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन इंडेक्स (IIP) के अनुसार, जून के महीने में इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन 12.3 प्रतिशत बढ़ गया। एक साल पहले जून 2021 के दौरान आईआईपी में 13.8 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।

इन आंकड़ों के मुताबिक, जून 2022 में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर का प्रोडक्शन 12.5 पर्सेंट बढ़ा। इसके अलावा माइनिंग प्रोडक्शन में 7.5 पर्सेंट और बिजली प्रोडक्शन में 16.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इस तरह चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) के दौरान आईआईपी 12.7 प्रतिशत बढ़ा है। एक साल पहले की समान अवधि में औद्योगिक उत्पादन 44.4 प्रतिशत बढ़ा था। गौरतलब है कि मार्च 2020 में कोविड-19 महामारी आने के कारण अप्रैल-जून 2020 की तिमाही में औद्योगिक उत्पादन पर काफी नकारात्मक प्रभाव पड़ा था और यह 18.7 प्रतिशत तक गिर गया था।

जुलाई में निर्यात 36.27 अरब डॉलर रहा
देश का निर्यात जुलाई में 2.14 प्रतिशत बढ़कर 36.27 अरब डॉलर रहा। वहीं व्यापार घाटा इसी महीने में लगभग तीन गुना होकर 30 अरब डॉलर पहुंच गया। शुक्रवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार आयात जुलाई महीने में सालाना आधार पर 43.61 प्रतिशत बढ़कर 66.27 अरब डॉलर रहा। व्यापार घाटा जुलाई 2021 में 10.63 अरब डॉलर था। इस महीने की शुरूआत में जारी प्रारंभिक आंकड़ों के अनुसार जुलाई में निर्यात 0.76 प्रतिशत घटकर 35.24 अरब डॉलर रहने का अनुमान लगाया गया था। जुलाई 2021 में यह 35.51 अरब डॉलर था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

संकेत साहित्य समिति का स्थापना दिवस मनाया गया

रायपुरसंकेत साहित्य समिति का इकतालीसवाँ स्थापना दिवस बैस भवनमें रविशंकर विश्व विद्यालय के कुलपति प्रो. केशरी लाल वर्मा...

More Articles

Home
Install
E-Paper
Log-In