गोवा में अवैध बार के संचालन मामला : स्मृति ईरानी ने पवन खेड़ा-जयराम रमेश को भेजा कानूनी नोटिस

Must Read


नई दिल्ली
गोवा में अवैध बार के संचालन में कथित रूप से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी का नाम सामने आने के बाद कांग्रेस ने उन पर हमला बोला था। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा था कि एक मरे हुए व्यक्ति के नाम का दुरुपयोग कर अपनी तिजोरियां भरने से ज्यादा बेशर्मी और क्या होगी? इनकी वाहियात और दोहरी मानसिकता आज पूरा देश देख रहा है।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस नेताओं पवन खेड़ा, जयराम रमेश, नेता डिसूजा और पार्टी  को कानूनी नोटिस भेजा है। नोटिस में उनसे बिना शर्त लिखित माफी मांगने को कहा गया है। इसके साथ उनसे आरोपों को तत्काल प्रभाव से वापस लेने के लिए कहा गया है। दरअसल, कांग्रेस ने बीते दिन स्मृति ईरानी की 18 वर्षीय बेटी पर गंभीर आरोप लगाए गए थे।

क्या है मामला?
दरअसल, गोवा में अवैध बार के संचालन में कथित रूप से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी का नाम सामने आने के बाद कांग्रेस ने उन पर हमला बोला था। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा था कि एक मरे हुए व्यक्ति के नाम का दुरुपयोग कर अपनी तिजोरियां भरने से ज्यादा बेशर्मी और क्या होगी? इनकी वाहियात और दोहरी मानसिकता आज पूरा देश देख रहा है।
   
खेड़ा ने कहा था कि गोवा में स्मृति ईरानी की बेटी द्वारा चलाए जा रहे एक ‘रेस्टोरेंट’ पर फर्जी लाइसेंस लेने का आरोप है। वह लाइसेंस एक ऐसे व्यक्ति के नाम पर है, जिनका देहांत मई 2021 में हुआ और लाइसेंस जून 2022 में लिया गया। बार से सराबोर ‘सरकार’ को अखबार चलाने वालों से इतना बैर क्यों है?
    
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा था कि हैरानी की बात यह है ऐसे नेताओं के समर्थकों के बच्चे नमाज और हनुमान चालीसा की लड़ाई लड़ें और खुद उनके बच्चे या तो विदेशों में पढ़ें या आपके ‘आशीर्वाद’ के सहारे इस तरह के गैरकानूनी काम करें। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से स्मृति ईरानी को बर्खास्त करने की मांग की थी।

केंद्रीय मंत्री ने किया था पलटवार
केंद्रीय मंत्री ने मामले में कांग्रेस पर पलटवार किया था। उन्होंने सभी आरोपों को खारिज करते हुए कांग्रेस नेता पवन खेड़ा और दिग्गज नेता जयराम रमेश को जमकर घेरा था। उन्होंने कहा था कि दो अधेड़ उम्र के पुरुषों ने एक 18 साल की लड़की की इज्जत की धज्जियां उड़ाने का दुस्साहस किया है। उस लड़की का दोष यह है कि उस लड़की की मां ने 2014 और 2019 में अमेठी से राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा। जिस 18 साल की लड़की की इज्जत पर कांग्रेस के प्रवक्ताओं ने आज हमला किया, उस लड़की का दोष यह है कि उसकी मां स्मृति ईरानी सोनिया गांधी और राहुल गांधी के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस करती है। वो 18 साल की लड़की जो कॉलेज के प्रथम वर्ष में पढ़ती है, उसका दोष यह है कि उसकी मां ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी की 5,000 करोड़ की लूट के ऊपर प्रेसवार्ता की।

राहुल को दी थी चुनौती
उन्होंने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष को चुनौती देते हुए कहा कि मैं राहुल गांधी को 2024 में फिर से अमेठी लोकसभा सीट से लड़ने की चुनौती देती हूं और वादा करती हूं कि वह फिर से हारेंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

श्रीलंका व इंग्लैंड की टीम पहुंची रायपुर, आज करेंगे अभ्यास

रायपुररोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज के मैच खेलने के लिए श्रीलंका लीजेंड और इंग्लैंड लीजेंड्स की टीम रविवार को...

More Articles

Home
Install
E-Paper
Log-In